1 Dulabar

Mera Bharat Mahan Par Essay In Hindi

Posted by saddam husen

» hindi essay

» Wednesday, September 21, 2016

Share this Post on:

TIPS2SECURE



Mera Bharat Mahan Essay in Hindi- मेरा भारत महान पर निबन्ध


हमारा प्यारा भारत इंडिया और हिंदुस्तान के नाम से भी जाना जाता है! हमारा भारत इतना प्राचीन है इसका अंदाजा हुम हड़प्पा और मोहनजोदरो की प्राचीन युग से लगा सकते है! हड़प्पा और मोहनजोदरो की प्राचीन युग की शुरुवात हमारे भारत देश से ही हुई है!  हड़प्पा और मोहनजोदरो भारत की एक बहुत प्राचीन सभ्यता मानी जाती है! भारत में सबसे पहले अर्यो का उदय हुआ था! उस समय यहाँ पर आर्य समाज की स्थापना हुई थी! हमारा भारत देश कोई नया देश नहीं है दुनिया के लिए बल्कि हमारा भारत एक बहुत ही पुराना देश है! बहुत से कवियों के भारत देश के बारे में अपने विचार को अलग अलग तरीके से प्रघट किया है! अगर बात की जाये की भारत का नाम हिंदुस्तान कैसे पढ़ा तो इसका भी के बहुत पुराना इतिहास है! जब भारत में सिन्धु घटी की स्थापना हुआ तो कहा जाता है सिन्धु घटी की स्थापना के नाम पर हमारे देश का नाम हिंदुस्तान पड़ा! भारत देश के बारे में अलग अलग इतिहासकार ने अपने अलग अलग मत दिए है! उनके सभी मतों से एक बात तो तय है की भारत कोई नया देश नहीं है बल्कि भारत एक बहुत पुराना देश है! भारत में कई तरह की सभ्यता का उदय हुआ है! 


Essay On Mera Bharat Mahan-2 


हमारा भारत देश हमेसा विदेशी के शासन के आगे मजबूर रहा है! भारत में लगभग 300 साल तक अंग्रेजो ने शासन किया! अंग्रेजो से पहले भी बहुत से राजा लोग ने भारत पर राज किया है! भारत एक प्राचीन देश होने के साथ साथ हमेसा दुसरे का गुलाम बन कर रहा है! राजाओ और अंग्रेजो के शासन करने बाद भी भारत ने अपने प्राचीन संस्कृत का कभी त्याग नहीं किया! आज भी भारत अपने प्राचीन संस्कृति के कारण पूरी दुनिया में जाना जाता है! अगर बात करे भारत की सुन्दरता की तो सुन्दरता के मामले में भी भरता किसी से कम नहीं है! भारत में कश्मीर को दुनिया का जन्नत कहा जाता है! भारत में बहुत से ऐसे प्लेस है जो अपनी सुन्दरता के कारण पूरी दुनिया में पापुलर है! आगरा का ताजमहल आज भी पूरी दुनिया के लिए एक मिसाल है! हर रोज हजारो लोग  आगरा का ताजमहल देखने के लिए आते है! भारत में स्तिथ हिमालय पर्वत भारत का सिर है! हिमालय पर्वत 68 हजार वर्ग किलोमीटर के छेत्र में फैला है! अगर बात की जाये छेत्रफल की तो भारत छेत्रफल की दृष्टी से दुनिया के 7वा सबसे बड़ा देश है! भारत एक ऐसा देश है जहाँ पर हर एक जाति और धर्म के लोग रहते है! भारत की परम्परा पूरी दुनिया के लिए एक मिसाल है! पूरी दुनिया के लोग भारत की परम्परा का सम्मान करते है! पूरी दुनिया में भारत ही एक ऐसा देश है जंहा पर सभी धर्म के लोग एक साथ बिना किसी भेद भाव के रहते है! एक समय था जब दुनिया भारत को सोने की चिड़िया कहते थे! प्राचीन काल में दुनिया के सभी देश के लोग भारत में आकर ब्यापार करना चाहते थे! क्योकि बहुत ही अलग अलग प्रकार की चीज़े उगती थी! पहले जबाने में बहुत से ब्यापारी भारत में उगने वाले बढ़िया चीजों को यंहा से खरीद कर विदेशो में ले जाकर उचे दामो में बेचते थे! बहुत से ऐसे ब्यापारी थे जो यही काम करके बहुत ज्यादा पैसे कमाते थे! दुनिया हमेसा भारत से जलती रहती है! 


Essay On Mera Bharat Mahan-3 


प्राचीनकाल में अनेक जाति और देशो ने भारत पर हमला किया और भारत में अपना खुद का शासन किया! अगर कहा जाये की भारत दुनिया का सबसे सुंदर देश है तो इसमें कोई गलत बात नहीं है! क्योकि भारत वास्तव में दुनिया के सुंदर देशो में से एक है! दुनिया का सबसे प्राचीन वेद का उदय भारत में ही हुआ था! श्रीकृष और श्रीराम ने भारत की ही भूम में ही अवतार लिया था! श्रीकृष और श्रीराम जैसे और भी बहुत से महान लोगो ने भारत में जन्म लिया था! श्रीकृष और श्रीराम ने भारत में अवतार लेकर इसकी भूम को पवित्र कर दिया है! भारत की गंगा , यमुन , कावेरी , सतलुज जैसी नदियों की वजह से भारत की भूम को पानी मिलता है! भारत में नदियों की भी पूजा की जाती है! और कहा जाता है की अगर कोई गंगा में जारकर स्नान कर ले तो उसके पुरे पाप धुल जायेगें! इसलिए भारत में हर साल कुम्भ का मेला लगता है इस दिन दुनिया के लोग कुम्भ के मेले में आकर गंगा में स्नान करके अपने द्वारा किये गए पापो को धुलते है! अपने देश के लिए जान देने वाले वीर पुरुष को सम्मान देने की प्रक्रिया भारत देश से ही शुरु हुआ था! भारत में बहुत से महापुरुष और महापंडितो का जन्म हुआ! भारत में ही मार्सल आर्ट की शुरुवात हुई! भारत में मार्सल आर्ट की शुरुवात वोदिधर्मन ने किया था! वोदिधर्मन ने बाद में जाकर चीन वालो को भी मार्सल आर्ट सिखाया था! यदि आप सोच रहे है की मार्सल आर्ट की शुरुवात चीन से हुई है तो आप गलत सोच रहे है क्योकि मार्सल आर्ट की सुरुवात भारत से हुई थी! भारत की दें है की चीन को भी मार्सल आर्ट की जानकारी हुई! 


Ye bhi Padhe,

Women Empowerment Essay In Hindi- नारी सशक्तिकरण पर निबंध
Essay on Environment in Hindi - पर्यावरण पर हिंदी में निबंध
Global Warming Essay in Hindi- ग्लोबल वार्मिंग पर हिंदी निबंध

Essay On Mera Bharat Mahan- 4


प्राचीन काल में भारत के पास धन की कोई कमी नहीं थी! लेकिन भारत पर राजावो और शासको ने  भारत के सारे धन को लूट कर ले कर चले गए! भारत के खानों से सोना चांदी, अभ्रक और तांबा जैसी बहुत से मूल्यवान चीज़े निकली जाती है! भारत में अंग्रेजो ने ब्यापार का बहाना करके प्रवेश किया था! और धीरे धीरे भारत को अपना गुलाम बना लिया! आज हम सब को मिलकर एक नए भारत की स्थापना करनी चाहिये! हमारे सपनो के भारत में किसी को कोई भी चीज़ की कमी नहीं होती चाहिये! हमारे सपनो के भारत के किसी के साथ ऊच और नीच का कोई भाव नहीं रखना चाहिये! आज भारत दुनिया के सामने बहुत ही तेजी से विकसित हो रहा है! आज भारत हर एक चीज़ में किसी भी देश से कम नहीं है! हम सबको मिलकर भारत को आगे बढ़ाने में अपना योगदान देना चाहिये! भारत की पहचान भारत की संस्कृती है हमको भारत की  संस्कृती को आगे बढाना होगा और पूरी दुनिया के सामने भारत की संस्कृती को रखना होगा! आज हमारा देश पूरी तरह से आजाद है और हम हर साल 15 अगस्त को आजादी के दिन के रूप में मनाते है! हम सबको भारत के हर एक ब्यक्ति के साथ मिलकर रहना चाहिये! किसी भी ब्यक्ति के साथ किसी भी तरह का कोई भेद भाव नहीं रखना चाहिये! जब हम लोग आपस में मिलकर रहेगे तभी दुनिया हमारे भारत को मिसाल देगी! भारत कोई छोटा देश नहीं है और भारत किसी भी तरह के खतरों का सामना करने के लिए हमेसा तैयार रहता है! इसलिए हमको कभी भी किसी भी चीज़ से डरना नहीं चाहिये! हमको अपने देश के जवानों पर गर्व होना चाहिये! की हमारे जवान बार्डर पर रह कर दिन और रात हमारी और हमारे देश की सेवा करते है! तो चलो दोस्तों आज हम सब मिलकर ये संकल्प लेते है! की हम अपने देश की सान ऐसे ही बढ़ाते रहेगे! और अपने भारत देश के लिए हमेसा अपना योगदान देने रहेंगे! 

मै उम्मीद करता हु की आपको Mera Bharat Mahan Essay in Hindi के बारे में ये निबंध पसंद आया होगा! यदि आपको ये Essay On Mera Bharat Mahan का ये hindi निबंध पसंद आया है तो इसको अपने दोस्तों के साथ सोशल मीडिया पर शेयर करना ना भूले!

Mera Desh Mahan Essay in Hindi : Mera Bharat par Nibandh

मेरा भारत एक विशाल देश है एक समय था जब इसे सोने की चिड़िया कहा जाता था। वह अति प्राचीन देश है इसे हिंदुस्तान , सिंधु देश के नाम से भी जाना जाता है। इसके एक तरफ विश्व का सबसे ऊंचा पर्वत हिमालया है इसके परे तिब्बत तथा चीन वसा है। शेष तीनों दिशाओं में सागर से घिरा हुआ है। पूर्व में बंगलादेश है और बर्मा देश हैं पशिचम में पाकिस्तान , ईरान और अफगानिस्तान जैसे देश हैं। भारत भूमि में अनेक नदियां , मैदान और मारूस्थल हैं जैसे भारत में गंगा ,यमुना , सतलुज और भी बहुत सारी नदियां बहती हैं। गंगा नदी को तो पवित्र नदी होने के कारण इसे देव नदी के नाम से भी जाना जाता है संसार का ऐसा कोई मौसम नहीं होगा जो यहां देखने को ना मिलता हो। यहां जून महीने में भीषण गर्मी पड़ती है तो जनवरी महीने में कड़ाके की ठंड भी पड़ती है। भारत के चिरापुंजी में सबसे अधिक वारिश देखने को मिलती है वहीँ राजस्थान में बहुत काम बारिश होती है यहां सालभर हर प्रकार का मौसम आता है जो सबका मन मोह लेता है।

मेरे भारत का राष्ट्रीय पक्षी मोर है और राष्ट्रीय पक्षी बाघ है और राष्ट्रीय भाषा हिंदी है जन गण मन राष्ट्रीय गाण और वन्दे मातरम राष्ट्रीय गीत के रूप में गाया जाता है।

मेरा भारत खेती प्रधान देश है यहां पर मक्का , ज्वार , गेंहू , बाजरा और गन्ना जैसी फसलें उगाई जाती हैं। यहां बहुत सारे ऋषि , मुनियों , गुरुओं , तपस्वी और बलिदानी महापुरषों ने जन्म लिया और उनके द्वारा दिए गए सत्य , प्रेम , त्याग और मानवता के संदेशों द्वारा पूरे विश्व ने प्रेरणा ली है। यहां की औरतें वीरता और साहस की पुतलियां हैं कई महान वीरंगना जैसे झांसी की रानी , लक्ष्मीबाई , दुर्गावती आदि नारियों ने भारत में ही जन्म लिया और इंडिया गेट पर लिखे हजारों नाम उनकी देशभक्ति की गाथा गा रहे हैं।

भारत एक विशाल देश है और जनसंख्या के लिहाज से यह चीन के बाद दूसरे स्थान पर आता है। यहां पर अनेक धर्मों के लोग जैसे हिन्दू ,सिख , मुसलमान ,ईसाई के लोग प्रेम से रहते हैं जिस कारण भारत में अनेक प्रकार के त्यौहार भी मनाये जाते हैं जैसे दिवाली , लोहड़ी , ईद , क्रिसमिस जैसे बहुत सारे त्यौहार मनाये जाते हैं यहां बहुत सारी भाषाएं भी बोली जाती हैं जैसे हिंदी , पंजाबी , संस्कृत , बंगाली , गुजराती , उर्दू , तमिल और तेलगु और भी बहुत सारी भाषाएं हैं। यहां की सभ्यता और संस्कृति पूरे विश्व में प्रसिद्ध है जिसके लिए हर वर्ष लाखों विदेशी पर्यटक यहां घूमने आते हैं भारत की राजधानी दिल्ली और यहां 28 राज्य हैं या प्रदेश हैं। यहां पर अनेक तीर्थस्थल हैं जो भारत की सुन्दरता को बढ़ाते हैं। विश्व के सात अजूबों में शामिल ताजमहल भारत में ही स्थित है। इन्ही कारनों को होते हुए मेरा भारत महान है और मुझे अपने भारत देश पर बहुत गर्व है।

***********************************************

Essay on Mera Bharat Mahan Essay in Hindi 300 words

हमारा देश सचमुच ही बड़ा महान देश है। मेरे देश की सभ्यता बहुत पुरानी है संसार की सबसे पुरानी पुस्तक वेद की रचना भी इसी देश में हुई है। भारत एक अधिक जनसंख्या वाला देश है प्रकृतिक रूप से यह सभी दिशाओं से भी सुरक्षित है। इसके इलावा संसारभर में अपनी महान संस्कृति और परंपराओं के लिए प्रसिद्ध देश है। भारत में हिमालय पर्वत है जो संसारभर के प्रसिद्ध उंचे पर्वतों में आता है ये तीन तरफ से महासागरों से घिरा हुआ है महासागर , बंगाल की खाड़ी और पश्चिम दिशा में अरेबिक सागर।

भारत की धरती पर ही विवेकानंद जैसे महान पुरुषों ने जन्म लिया जिन्होंने भारत की संस्कृति व सभ्यता का परिचय दिया। इसके इलावा भगत सिंह , जवाहरलाल नेहरु , लक्ष्मीबाई और पृथ्वी राज चौहान जैसी महान विभूतियों ने जन्म लिया।

भारत में हिन्दू , सिख , ईसाई और मुस्लिम आदि जैसे धर्मों के लोग तथा अनेक जातियों के लोग प्रेम से रहते हैं और यहां दिवाली , होली , क्रिसमस , ईद जैसे त्योहार मनाये जाते हैं जिन्हें सभी धर्मों के लोग एक साथ मिलकर मनाते हैं जिन से हमें अनेकता में एकता का संदेश मिलता है।

भारत एक लोकतांत्रिक देश है जिस कारण यहां रहने वाले लोगों को स्वतंत्रता हासिल है , जहाँ का बंदे मातरम राष्ट्रीय गीत है और जन गण मन राष्ट्रगान के रूप में गाया जाता है। भगत सिंह , उधम सिंह जैसे क्रांतिकारियों ने देश को 15 अगस्त 1947 को स्वतंत्रता दिलाई तथा 26 जनवरी 1950 को हमारा संविधान लागू हुआ जिसे हर वर्ष 26 जनवरी को राष्ट्रिय पर्व के रूप में मनाया जाता है।

आज हमारा देश हर प्रकार से आजाद है इसीलिए हम सबको मिलजुल रहना चाहिए यदि हम इसी तरह मिलजुल कर रहेंगे तभी हमारा भारत महान कहलायेगा और जो रोजाना बॉर्डर पर देश के सेनिक बाहरी खतरों से हमारी रक्षा करते हैं हमें उन पर गर्व होना चाहिए उनके कारण ही हम रात को चैन की नींद सो पाते हैं मुझे विश्वास है के हमारा भारत प्रतिदिन उन्नति करेगा और हर प्रकार से ख़ुशहाल रहेगा।

(Visited 8,799 times, 30 visits today)

Filed Under: Hindi EssayTagged With: Hindustan, India Essay in Hindi

Leave a Comment

(0 Comments)

Your email address will not be published. Required fields are marked *